राजगढ़। दादा गुरुदेव श्रीमद्विजय राजेन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. के पंचम पट्टधर आचार्य श्रीमद्विजय विद्याचन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. की 39 वीं पुण्यतिथि सोमवार को भावपूर्वक मनाई गई । श्री मोहनखेड़ा तीर्थ स्थित आचार्यश्री के समाधि मंदिर में पूजन दर्शन हेतु बड़ी संख्या में गुरुभक्तों का आगमन हुआ । गुरु समाधि मंदिर को पुष्प सज्जा से सजाया गया। इस अवसर पर वर्तमानाचार्य श्री ऋषभचन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. के आज्ञानुवर्ती मुनिराज श्री रजतचन्द्रविजयजी म.सा., मुनिराज श्री वैराग्ययशविजयजी म.सा. एवं साध्वी श्री किरणप्रभाश्री जी म.सा., साध्वी श्री सद्गुणाश्री जी म.सा. की निश्रा में गुणानुवाद सभा का आयोजन हुआ। सामूहिक गुरुवंदन के पश्चात् मुनिश्री ने आचार्य श्री विद्याचन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. का गुणानुवाद करते हुए गुरु की महिमा बतलाई। आचार्यश्री की पुण्यतिथि पर अष्टप्रकारी पूजा एवं स्वामीवात्सल्य का लाभ भीनमाल/मुम्बई निवासी श्री बाबुलालजी मिश्रीमलजी वर्धन परिवार द्वारा लिया गया। इस अवसर पर राजगढ़ श्रीसंघ अध्यक्ष मणिलाल खजांची, कैलाश पीपलीवाला, नरेन्द्र भण्डारी, दिलीप भण्डारी, तीर्थ के महाप्रबंधक अर्जुनप्रसाद मेहता, आनन्दीलाल धारीवाल आदि उपस्थित रहे।

Post a Comment

 
Top