धार। धार जिले में लूट, डकैती व चोरी की घटनाओं पर अंकुश लगाने हेतु पुलिस अधीक्षक जिला धार आदित्य प्रताप सिंह ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक धार रूपेश द्धिवेदी एवं ओंकर कलेश के निर्देशन में धार जिलें के समस्त सीएसपी व एसडीओपी, थाना प्रभारीयों के साथ धार क्राईम ब्रांच/सायबर प्रभारी संतोष पाण्डेय को लगाया गया था। क्राईम ब्रांच धार को मुखबीर से सूचना मिली कि बाग क्षेत्र का रहने वाला सिद्दीक पठान अपने गांव के ही रहने वाले अन्य साथियों के साथ मिलकर चोरी की बकरा-बकरी व भेडे सस्ते दाम में खरीदकर हाट बाजारों में बेचने की बात कर रहा है, यदि उससे पूछतॉछ की जाये तो निश्चित ही उसके पास की भेडे विगत 6 माह पूर्व राजगढ़ से लूटी हुई भेडे हो सकती है।   
मुखबीर की सूचना महत्वपूर्ण होने से सूचना से वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया जाकर थाना प्रभारी राजगढ़ लोकेश सिंह भदौरिया से तस्दीक कराई जाकर क्राईम ब्रांच धार एवं थाना राजगढ़ पुलिस संयुक्त कार्यवाही करते हुए सिद्दीक पिता स्व. शब्बीर पठान जाति मुसलमान उम्र 36 साल निवासी बाग को पकड़कर हिकमत-अमली से पूछतॉछ की। तो सिद्दीक ने पुलिस को बताया कि मैं हाट बाजारों में भेड, बकरा-बकरी खरीदने व बेचने का काम करता हू। मेरे कस्बे में नईम पिता जकीर मेवाती, फिरोज पिता रफीक खान व सईद पिता सलीम मेवाती रहते है, जो मेरे बचपन के दोस्त है। नईम व फिरोज भी हाट बाजार में बकरा-बकरी खरीदने व बेचने का काम करते है। तथा सईद थाना टांडा की डायल 100 गाडी में पिछले 4 साल से ड्रायवरी का कार्य कर रहा है। पुलिस थाने की गाडी चलाने से वह टांडा के अपराधिक क्षेत्रो को भली भॉति जानता है। तथा उसकी अपराधियों में अच्छी जान पहचान है।
सस्ते दाम में मिली थी भेड़े - सिद्दीक ने बताया कि 15 दिन पूर्व सईद ने मुझे बोला कि होलीबयडा में चोरी की लगभग 100 भेडे है। तू, फिरोज व नईम तीनों मिलकर देख लो, बहुत सस्ते दाम में मिल जावेगी, मैंने बात कर ली है। तो मैंने पैसो के लालच में आकर हाँ कर दी। तो मैंने फिरोज और नईम को चोरी की भेड़ खरीदने की बात बताई। वे दोनो भी राजी हो गए। तथा सईद के द्वारा सौदा की गई 70 भेड़े (2,500/- रू. प्रति नग के हिसाब से) हम जुवानसिंह निवासी होलीबयडा से खरीदे थे जिसमें मैंने अपनी इंडिगो कार क्रमांक एमपी 09 सीजे 9313 से अपने हिस्से की लगभग 20 भेडे लाया था। नईम एवं फिरोज अपने परिचित अखलाख नामक व्यक्ति से एक आयसर बुलाकर उसमें भेडे भर कर लाये थे मैंने अपनी शेष 5 भेडे उसी आयसर से लाया था।
आरोपी सिद्दीक की निशादेही पर क्राईम ब्रांच टीम एवं थाना राजगढ़ की टीम द्वारा सिद्दीक के घर के बाडे से 25 भेडे जप्त की। तथा आरोपी फिरोज व नईम के घर से 44 भेडे जप्त की। तीनों आरोपियों से अभी तक कुल 69 भेडे जप्त की गई जा चुकी है। जिसकी जुमला कीमत लगभग 2,00,000/- रू. है। पुलिस द्वारा आरोपी सईद को भी गिरफ्तार कर लिया गया है, जिसने चोरी की भेडे बिकवाने का जुल्म स्वीकार कर लिया। सईद से 1,000/- रू. बरामद किये है। आरोपी सईद की शिकायत कई दिनों से पुलिस को मिल रही थी, कि वह टांडा के चोर बदमाशो से पुलिस के नाम पर अवैध वसूली करता है। तथा पुलिस की गतिविधियों की सूचना भी चोरो को पहुचाता है। आरोपी सईद से भी पुलिस अभी और पूछतॉछ कर रही है।

6 माह पूर्व राजगढ़ ले लूटी थी भेड़े - 6 माह पूर्व राजगढ़ की भेड़ लूट की घटना को तत्कालीन पुलिस अधीक्षक महोदय धार द्वारा गंभीरता से लिया गया था तथा भेडो की तलाश हेतु पुलिस द्वारा कई बार अपराधिक क्षेत्र जामदा-भूतिया एवं होलीबयडा में दबिश दी गई थी, परंतु पुलिस को सफलता नही मिल पाई थी। राजगढ़ की घटना का संक्षिप्त विवरण इस प्रकार है कि दिनांक 24.12.2018 को फरियादी भग्गा पिता साकलाजी रबारी निवासी थाना तखतगढ़ राजस्थान ने थाना राजगढ़ आकर रिपोर्ट दर्ज कराई कि वह भेड पालन का काम करता है। दिनांक 23.12.18 को वह 500 भेड़ और 6 ऊंट चराने के उद्देश्य से अपने परिवार सहित माही नदी के किनारे राजगढ़ में भेडो को जाल लगाकर रूके थे। रात करीब 10 बजे 3-4 अज्ञात बदमाश जाल हटाकर चुराने के उद्देश्य से हमारी भेडो को हाककर नदी तरफ ले जा रहे थे। फरियादी व उसके परिवार द्वारा रोकने पर बदमाशों ने बन्दुक से हवाई फायर किए। तथा पत्थर चलाये जिससे फरियादी व उसके परिवार के सदस्यों घायल हो गए। तथा बदमाश अंधेरे का फायदा उठाकर फरियादी की 200 भेडे हाककर ले जाने में सफल हुए। फरियादी की रिपोर्ट पर से अज्ञात बदमाशों के विरूद्ध थाना राजगढ़ में अपराध क्रमांक 558/18 धारा 379, 458, 34 भादवि का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। विवेचना के दौरान अपराध सदर में धारा 394 भादवि बढाई गई। पकडे गये आरोपीयानों से पूछतॉछ की जा रही है। भेडो को लूटने वालो के संबंध मं एवं भेडो को लाने में उपयोग हुई आयसर के संबंध में जानकारी प्राप्त होने पर कार्यवाही की जावेगी। पूछतॉछ जारी है। 

Post a Comment

 
Top