नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी की संसदीय दल की बैठक संसद की लाइब्रेरी के जीएमसी बालायोगी सभागृह में हुई। लोकसभा चुनाव में शानदार जीत के बाद भारतीय जनता पार्टी की संसदीय दल की यह पहली बैठक है। बैठक को लेकर पहले ही पार्टी के सभी लोकसभा और राज्यसभा सासदों से बैठक में समय से उपस्थित रहने को कहा गया था। बैठक में जो अलग रहा वह ये था कि लाल कृष्ण अडवाणी और मुरली मनोहर उसमें शामिल नहीं थे। वहीं, ऐसा कई सालों बाद हुआ है जब इस बैठक लाल कृष्ण अडवाणी और मुरली मनोहर जोशी नहीं हैं। क्योंकि, उन्हें इस बार लोकसभा का टिकट नहीं दिया गया था। यहीं नहीं इस बैठक में पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज भी मौजूद नहीं होंगी। बीजेपी के ये सभी कद्दावर नेता इस बार संसद के किसी सदन के सदस्य नहीं हैं। सुषमा स्वराज पिछली मोदी सरकार में विदेश मंत्री रहीं थीं।
बीजेपी की संसदीय दल की बैठक में पीएम मोदी ने इंदौर की घटना पर जबरदस्त नाराजगी जताई है। कैलाश विजयवर्गीय के बल्लामार बेटे आकाश विजयवर्गीय पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इस तरह की चीजें हरगिज बर्दाश्त नहीं की जाएंगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि हम दिन-रात इसलिए मेहनत नहीं कर रहे कि ऐसी हरकत की जाए। पीएम ने कहा कि किसी का बेटा होने का ये मतलब नहीं कि मनमानी की छूट होगी। प्रधानमंत्री मोदी ने सख्ती दिखाते हुए कहा कि जेल छूटने के बाद आकाश के स्वागत में जो लोग गए थे, उनको बाहर किया जाए, पूरी यूनिट भंग की जाए। 

Post a Comment

 
Top