नई दिल्ली। सरकार गठन के साथ ही मोदी सरकार फुल एक्शन में है। अपनी पहली कैबिनेट मीटिंग में ही सरकार ने करोड़ों गरीबों से किए वादे पूरे किए। साथ ही आने वाले 100 दिनों का एजेंडा भी तय कर दिया। 130 करोड़ जनता का आशीर्वाद लेकर प्रचंड जीत के साथ दूसरी बार सत्ता पर काबिज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी पहली कैबिनेट बैठक में ही सरकार का एजेंडा तय कर दिया। मोदी ने बता दिया कि जनता से उन्होंने जो वादे किए हैं उन्हें पूरा करने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ेंगे। कैबिनेट की बैठक में नई सरकार का कामकाज शुरू करने के लिए सबसे पहले संसद सत्र की तारीख तय की गई। कैबिनेट की बैठक में फैसला हुआ कि नई सरकार में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण 5 जुलाई को अपना पहला पूर्ण बजट पेश करेंगी।

कैबिनेट की इस पहली बैठक में प्रधानमंत्री मोदी ने अगले 100 दिन का रोडमैप पेश किया। 100 दिनों तक सरप्राइज देने वाले फैसलों की पहली किश्त मोदी ने देश के किसानों-जवानों और गरीब मज़दूरों को दे ही है। आगे की सरप्राइज के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी टास्क फोर्स को हिदायत दे दी है। प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी कैबिनेट मीटिंग में मंत्रियों के सामने जो एजेंडे पेश किए उनमें अर्थव्यवस्था, रोज़गार, आतंकवाद जैसे मुद्दों पर चर्चा हुई। सरकार ने मंत्रियों को जिन टॉप एजेंडे पर काम करने के लिए कहा उनमें अहम हैं 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करना, देश की अर्थव्यवस्था को मजबूत करने पर काम, भारत को ग्लोबल स्टार्ट-अप हब बनाने पर फोकस, रोज़गार के पर्याप्त अवसर पैदा करने पर एक्शन और ज्यादा नौकरियों के मौके पैदा करने वाली नीतियों पर फोकस।

प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी टीम के चार भरोसेमंद मंत्रियों को इन एजेंडों पर काम करने के लिए कहा है। नए गृह मंत्री अमित शाह, देश के नए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, देश की नई वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और नए विदेश मंत्री एस जयशंकर पर प्रधानमंत्री ने भरोसा जताया है। देश को नई दिशा देने के लिए इन चेहरों के साथ टीम के स्पेशल 57 को भी सरकार के 100 दिन के एजेंडे पर काम करने की हिदायत दी गई है।

Post a Comment

 
Top