रायपुर। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल आज बालोद जिले के तहसील मुख्यालय डौण्डीलोहारा के मंडी प्रांगण में आयोजित निषाद समाज के वार्षिक अधिवेशन समारोह में शामिल हुए। निषाद समाज द्वारा मुख्यमंत्री का फुलमालाओं से आत्मीय स्वागत किया गया।  इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री बघेल ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि निषाद समाज मेहनतकश समाज है। हर युग में निषाद समाज का महत्वपूर्ण योगदान रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में नई सरकार बनने के साथ ही किसानों के हित में कई निर्णय लिए गए। किसानों का धान 2500 रूपए प्रति क्विंटल की दर से खरीदा गया। प्रदेश के बीस लाख किसानों का ग्यारह हजार करोड़ रूपए के अल्पकालीन कृषि ऋण माफ किया गया। चार सौ यूनिट तक बिजली बिल आधा किया गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों की समृद्धि हम सबकी प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि वनक्षेत्र में निवास करने वालों को वन अधिकार पट्टा देने की कार्यवाही की जा रही है। मुख्यमंत्री ने निषाद समाज की मांग पर मंगल भवन के लिए दस लाख रूपए की स्वीकृति दी। मुख्यमंत्री ने शिक्षा, खेल व विविध क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले निषाद समाज के प्रतिभाओं को प्रतीक चिन्ह व प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया। समारोह को गुण्डरदेही विधानसभा क्षेत्र के विधायक श्री कुंवर सिंह निषाद और बालोद विधानसभा क्षेत्र की विधायक श्रीमती संगीता सिन्हा ने भी संबोधित किया। निषाद समाज द्वारा मुख्यमंत्री को स्मृति चिन्ह भेंट किया गया। इस अवसर पर निषाद समाज के अनेक पदाधिकारियों सहित जिले के जनप्रतिनिधि, गणमान्य नागरिक, कलेक्टर श्रीमती रानू साहू, पुलिस अधीक्षक श्री एम.एल.कोटवानी तथा बड़ी संख्या में निषाद समाज के सामाजिक बंधु उपस्थित थे।

Post a Comment

 
Top