सरदारपुर। क्षेत्र में पूर्व में घटित 2 लूट, 1 चोरी, 1 मारपीट एवं 1 आगजनी, सहित कुल 05 घटनाओ का आज पुलिस ने पर्दाफाश किया है। पुलिस थाने पर एएसपी द्वारा पत्रकार वर्ता कर घटनाओं का खुलासा किया। लूट, डकैती, चोरी घटनाओ पर अंकुश लगाने हेतु धार जिला पुलिस अधीक्षक बीरेन्द्र कुमार सिंह ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक धार औंकार सिंह कलेश व रूपेश द्विवेदी के निर्देशन में एसडीओपी सरदारपुर ऐश्वर्य शास्त्री, थाना प्रभारी सरदारपुर ब्रजेशकुमार मालवीय के साथ क्राईम प्रभारी संतोष कुमार पाण्डेय को लगाया गया था।

पुलिस को मुखबिर द्वारा सूचना मिली कि ग्राम एहमद तथा नरसिहदेवला के अजय पिता प्रभु जाति भील उम्र 25 साल निवासी नरसिहदेवला, सुकराम पिता चम्पालाल जाति भील उम्र 24 साल निवासी एहमद, सावन पिता मुन्नालाल जाति भील उम्र 19 साल निवासी एहमद तथा विरेन्द्र पिता ब्रदी जाति भील उम्र 21 साल निवासी नरसिहदेवला रहने वाले कुख्यात बदमाश होकर सरदारपुर, राजगढ़, राजोद, अमझेरा क्षैत्र में लूट, डकैती, मारपीट जैसी घटनाओ में शामिल होकर घटनाओ को अजांम दे रहे है। इनके द्वारा रोड पर आने जाने वाले लोगो के साथ मारपीट कर लूट पाट करते है। इस सूचना से वरिष्ठ अधिकारीयो को अवगत कराया गया। एसडीओपी सरदारपुर ऐश्वर्य शास्त्री के निर्देश में थाना प्रभारी सरदारपुर ब्रजेषकुमार मालवीय की टीम के उप निरीक्षक निहालसिह दण्डोतिया, उप निरीक्षक भागचंद तंवर, उप निरक्षक कन्हैयालाल पाटीदार, सहायक उप निरिक्षक रमेशचन्द्र नायक, सहायक उप निरिक्षक गणपतसिह चौहान, प्रधान आरक्षक मांगीलाल गोयल, आरक्षक प्रकाश, आरक्षक अनिल, आरक्षक सुनिल एवं क्राईम ब्रांच के सहायक उप निरिक्षक धीरज राठौर को लगाया गया।

आयसर वाहन सहीत लाखों का सामान किया जप्त -
टीम द्वारा संदेही सुकराम पिता चम्पालाल भील निवासी एहमद को उसके घर से पकडा तथा सख्ती से पुछताछ करने पर उसके द्वारा अपने अन्य तीन साथी अजय पिता प्रभु भील नरसिहदेवला, सावन पिता मुन्नालाल भील एहमद, विरेन्द्र पिता ब्रदी भील नरसिहदेवला के साथ मिलकर थाना सरदारपुर क्षैत्र में लोगो के साथ मारपीट कर लूट पाट करने की घटनाए भानगढ रोड, नरसिह देवला, इन्दौर अहमदाबाद हाईवे रोड, झिर्णेश्वर मंदिर रोड पर करना बताया गया तथा उक्त घटना में लूट का माल अपने पास रखना बताया गया था। सूचना पर टीम द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुये, अन्य आरोपी को दबिश देकर ग्राम एहमद व नरसिहदेवला में घेराबंदी कर पकडा जिनसे पुछताछ की गई व गिरफ्तार किया गया। आरोपीयो के कब्जे से एलईडी, मोबाईल तथा महत्वपुर्ण दस्तावेज बरामद किये गये एवं घटना में प्रयुक्त मोटरसाईकील सीडी-100 क्रमांक एमपी09 जे 1479 तथा स्पेलेन्डर मोटर साईकील बिना नंबर नई बरामद की गई। इस प्रकार आरोपियो से कुल करीबन ढेड लाख रूपये का मश्रुका बरामद किया गया है व चोरी की घटना में 19 लाख की किमती आयसर वाहन को मय सामान के पुर्व में जप्त किया गया था। चारो आरोपियों द्वारा घटना घटित करना कबुल किया गया है।

इन घटनाओं को आरोपियों ने दिया था अंजाम - 
पकड़े गए आरोपीयों ने पांच वारदातों को अंजाम देना कबुल किया है। आरोपीयों द्वारा 31.12.18 के रात्रि 8ः30 बजे भानगढ़ निवासी गिरधारी पिता किषनलाल कुमावत एवं उसके साथी के साथ मारपीट कर दो मोबाईल तथा एक एलसीडी लूट ली थी। आरोपीयों द्वारा 1 जनवरी 2018 को टिमायची निवासी सोहन पिता पुनमचन्द्र डिडवानीया के साथ रात्रि 9ः30 बजे भानगढ़ जाते समय रास्ता रोककर मारपीट कर मोबाईल फोन एवं दस्तावेज पर्स व नगदी 15 हजार रूपये छीन लीये थे। आरोपीयों ने दिनांक 21 मार्च 2019 को भीनमाल राजस्थान निवासी किशनसिंह पिता गणपतसिंह राजपूत की प्लास्टीक के सामान से भरी आयसर गुरूराज ढाबे से चुरा ली थी। आरोपीयों ने दिनांक 9 मार्च 2019 को राजगढ़ निवासी मोहनलाल पिता वेलजी भील एवं उसकी पत्नी के साथ राजगढ़ -भानगढ़ रोड़ पर मारपीट की थी। आरोपीयों द्वारा 15 फरवरी 2019 को झिरणेश्वर मंदिर के संत की सुनी कुटीया में आग लगाना कबुल किया है।

Post a Comment

 
Top