सरदारपुर। क्षत्रिय मारू कुमावत समाज सरदारपुर द्वारा श्रीराम भगवान के प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव अंतर्गत बुधवार रात्रि में अखिल भारतीय कवि सम्मेलन आयोजित किया गया जिसमें राष्ट्रीय कवि मुकेश मोलवा इन्दौर, सरदार वाहेगुरू भाटीया, सुश्री सुनिता पटेल, अनिल उपहार, हेमन्त बोर्डिया, संदीप शोर्य अजय उठापटक एवं कवि देवराज गौराना द्वारा काव्य पाठ किया गया।
वीर रस के कवि मुकेश मोलवा द्वारा देश भक्ति की रचनाए प्रस्तुत कर भारत माता जय का वरोध करने वालो को कहा सात सुरो को मिला के एक लय बोले सिंह की भाति होकर निर्भय बोले जिसकी रगों में हो अपने पिता का रक्त केवल वो ही भारत माता की जय बोले तथा वतन पर निसार जान कर चले गए वो चिथडो में देहदान कर चले गए विराट मृत्यु पर महाकाल भी खडे हो गए कहा वीर तुम महावीर से भी बडे हो गए। सदन में मोलवा के काव्य पाठ के दौरान श्रोताओं ने घनघोर तालिया बजाई। कार्यक्रम की शुरूआत जबलपुर की कवियत्री सुश्री सुनिता पटेल द्वारा सरस्वती वंदना से की गई एवं प्रारंभ में कवि अजय उठापटक द्वारा अपने रचना प्रस्तुत कर कहा जयकारे तुमने खुब लगाए जय श्री राम के, मंदिर नही बना तो तुम नही हमारे काम कें।
इसके बाद कार्यक्रम संयोजक कवि देवराज गौराना द्वारा हास्य व्यंग्य से शुरूवात कर प्रिया प्रकाश पर रचना प्रस्तुत कर कहा फालो करते तुम रानी पदमावती सी क्षत्राणी को या करते फालो तुम झासी वाली रानी को पर हुए दिवाने उसके जिसमें महज एक खुमारी थी, सात लाख क्यों टुट पडे एक आख ही तो मारी थी। अंत में मा पर अपनी मार्मिक रचना "कुछ नही मंदिर मस्जिद शिवालयों में मा के कदमों में सच्ची जन्नत है" प्रस्तुत कर सदन को भावविभोर कर दिया। नाथद्वारा के कवि कानु पण्डित ने मेवाडी हास्य से श्रेाताओं को गुदगुदाया फिर क्रम वार कवि हेमंत बोर्डिया, अनिल उपहार, संदिप शोर्य आदि ने काव्य पाठ किया। कवि सम्मेलन देर रात्रि तक चला एवं बडी संख्या में श्रोता डटे रहें। अंत में क्षत्रिय मारू कुमावत समाज एवं सांवरिया फ्रेंड्स ग्रुप की ओर से यत्रिन्द्र मारू एवं रामेश्वर मारू द्वारा आभार व्यक्त किया गया। 

Post a Comment

 
Top