राजगढ़। आचार्य श्री ऋषभचंद्र सूरीश्वरजी मसा के शिष्य रत्न मालव शिरोमणी तपस्वी रत्न मुनिश्री पीयूषचंद्र विजयजी मसा का राजगढ़ श्रीसंघ ने वर्षीतप तपस्या की अनुमोदना करते हुए उन्हें अभिनंदन पत्र भेंट किया। गौरतलब है कि पीयूषचंद्र विजयजी मसा राजगढ़ के रत्न है और उन्होंने एक वर्षीय वर्षीतप की तपस्या पूर्ण की हैं। अभिनंदन पत्र भेंट करने के दौरान क्षेत्रीय विधायक प्रताप ग्रेवाल, त्रिस्तुतिक संघ के राजगढ़ अध्यक्ष मणीलाल खजांची, अशोक भंडारी, कैलाश जैन पीपलीवाला, दिलीप पुराणी, मनीष च्वाइस, दिलीप भंडारी, पार्षद नरेंद्र भंडारी, सुरेंद्र मालवीय, जिला पत्रकार संघ प्रवक्ता एवं उपभोक्ता संगठन प्रकोष्ठ जिला उपाध्यक्ष दीपक जैन, सुनील बाफना, आशीष चत्तर सहित समाज के कई गणमान्य लोग उपस्थित थे।  मुनिश्री को अभिनंदन पत्र भेंट करने से पहले कामली भी ओढ़ाई गई। राजगढ़ श्रीसंघ ने आचार्यदेवेश श्री ऋषभचंद्र सूरीश्वरजी मसा के आगामी चातुर्मास की भावभरी विनती भी की। जिस पर आचार्य श्री ने 12 जून को चातुर्मास की घोषणा करने का निर्णय सुनाया। इस अवसर पर कई जैन श्रीसंघ भी मौजूद थे। 

Post a Comment

 
Top