नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि पाकिस्तान ने अगर आतंकवाद नहीं रोका तो हमारे पास उनका पानी रोकने के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं है। नितिन गडकरी ने कहा है कि पाकिस्तान लगातार आतंकवाद को समर्थन दे रहा है। उन्होंने कहा कि भारत सिंधु जल समझौते का पालन करने के लिए वाध्य नहीं है। नितिन गडकरी ने कहा ‘’3 नदियों का पानी पाकिस्तान को जा रहा है, हम उस पानी को नहीं रोकना चाहते, लेकिन भारत और पाकिस्तान के बीच हुए जल समझौते के लिए शांतिपूर्ण रिश्ते और दोस्ती आधार था और हाल के दिनों में यह पूरी तरह से खत्म हो चुका है, ऐसे में हम इस समझौते का पालन करने के लिए वाध्य नहीं है।‘’ नितिन गडकरी ने आगे कहा ‘’पाकिस्तान लगातार आतंकवाद का समर्थन कर रहा है, अगर पाकिस्तान ने आतंकवाद नहीं रोका तो हमारे पास उनका पानी रोकने के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं होगा, इसलिए भारत ने आंतरिक तौर पर इसपर विचार करना शुरू कर दिया है, वह पानी पंजाब, हरियाणा और राजस्थान को जाएगा।‘’ भारत और पाकिस्तान के बीच सिंधू जल समझौता 1960 में हुआ था, उस समय भारत के प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू और पाकिस्तान के राष्ट्रपति अयूब खान ने इस समझौते पर हस्ताक्षर किए थे। समझौते के तहत ब्यास, रावी और सतलुज नदियों के पानी का नियंत्रण भारत और सिंधु, चेनाब और झलम नदियों के पानी का कंट्रोल पाकिस्तान को सौंप दिया गया। पाकिस्तान को जिन नदियों के पानी का कंट्रोल दिया गया उन नदियों में भारत के कंट्रोल में आई नदियों के मुकाबले ज्यादा पानी रहता है।

Post a Comment

 
Top