भोपाल। ईरान में आयोजित वर्ल्ड हेल्थ समिट में भोपाल के शासकीय यूनानी चिकित्सा महाविद्यालय के डॉ. सैय्यद मोहम्मद अब्बास जैदी ने देश का प्रतिनिधित्व किया। सम्मेलन में विश्व स्वास्थ्य संगठन सहित 43 देशों के लगभग 800 प्रतिनिधियों ने भाग लिया। डॉ. जैदी पूर्व में इंग्लैण्ड, अमेरिका, ईरान, जापान, श्रीलंका और मलेशिया में भी यूनानी और भारतीय चिकित्सा पद्धति पर शोध पत्र प्रस्तुत कर चुके हैं। डॉ. जैदी ने सम्मेलन में भारतीय चिकित्सा पद्धतियों और अन्य हर्बल चिकित्सा पद्धतियों में औषधियों की गुणवत्ता, समुचित मात्रा में उनके प्रयोग की आवश्यकता, चिकित्सकीय परामर्श के बिना इनका प्रयोग और एलोपैथी के साथ प्रयोग से होने वाले दुष्प्रभाव और दुष्प्रभावों की रिपोर्टिंग सही ढंग से विकसित करने पर बल दिया। डॉ. जैदी ने कहा कि इससे प्राचीन चिकित्सा पद्धति की उपयोगिता एवं लाभ सुनिश्चित होगा। सम्मेलन में डॉ. जैदी के शोध कार्यों में परस्पर सहयोग बढ़ाने पर भी चर्चा हुई।

Post a Comment

 
Top