खिलेडी/खरमपुर। नानीबाई का मायरा की तीन दिवसीय कथा सपन्न हुई। कथा वाचक परम पुज्य संत श्री गोपाल जी महाराज एवं राहुल जी जिला मन्दसोर के मुखारविंद से किया गया। जिसमे उन्होंने बताया की किस तरह से नरसिंह जी मेहता ने भक्ति से गिरधर गोपाल को प्रसन्न किया, एवं 56 करोड का धन होने के बाद भी भगवान की प्राप्ति नही हुई ,ईश्वर के सामने खाली हाथ जाना पडता है सत श्री गोपाल जी महाराज जी ने कहा की गुरु गोविंद दोनो कभी अपनी किमत नही करते है। वे नोट,नारियल, फुल,मिठाई या पुजा सामग्री से खुश नही होते है। वे तो स्वयं दाता है हम उन्हें केवल समय दे सकते है, यहाँ पैसा भी काम नहीं आएगा। इसका सजीव वर्णन सरल भाषा  अपने मुखारविंद से वर्णन किया। वही बड़ी संख्या मे श्रद्धांलुअो ने तीन दिवसीय कथा सुनने का आनंद लिया।

Post a Comment

 
Top