जगदीश चौधरी, खिलेडी। नवनिर्मित मा चामुण्डा माता मंदिर व मुर्ती प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव पंच कुडात्मक शतचंडी महायज्ञ बुधवार से प्रारंभ हुआ। इस अवसर पर पहले सुबह पुरे गांव में विशाल कलश यात्रा निकाली गई कलश यात्रा  में बालिकाए व महिलाएं कलश यात्रा मे शामिल हुई यात्रा शिव मंदिर से प्रारंभ हुई। कलश यात्रा के आगे आगे ढोल एवं डिजे पर युवा युवतियाँ नृत्य करते चल रहे थी बड़ी संख्या में ग्रामीण जन कलश यात्रा मे शामिल हुए कलश यात्रा नगर भ्रमण करते हुए जो नगर के प्रमुख मार्गों से भ्रमण करते हुए बस स्टैंड स्थित यज्ञशाला स्थल पर पहुँची यहाँ कलश यात्रा का स्वागत कर कलश यात्रा का यज्ञशाला मे प्रवेश कराया गया।
उसके बाद महायज्ञ के प्रथम दिन महायज्ञ में बैठने वाले सभी यजमानो का आचार्यो पंडितों के द्वारा वैदिक मंत्रों के द्वारा हैमाद्री कर प्रायश्चित शुद्धिकरण कर आचार्य हरिनारायण शास्त्री के द्वारा पुण्य वाचन सुनाया कर पुजन पाठ कर सभी यजमानो का यज्ञशाला मे प्रवेश कराया गया जहाँ यज्ञशाला मे मंडप प्रवेश कीया  श्री गणेश पुजन कर अग्नि स्थापना कर पुजन पाठ कीया गया शाम को महा आरती उतारी गई वहीं महाप्रसादी का वितरण किया गया।  महायज्ञ की प्रथम दिन की महाप्रसादी प्रकाश रामेश्वर खोखर लाभार्थी बनें वहीं प्रथम दिन के ब्राह्मण भोजन प्रसादी मधुसुधन पाटीदार लाभार्थी बनें। वहीं महायज्ञ के सभी पाचो दिन के लिए ठंडे आरो का पानी अंतरलाल चौधरी के द्वारा महायज्ञ व भडारे मे जल सेवा के लाभार्थी बने। आज गुरुवार को वैदिक मंत्रों द्वारा महायज्ञ में आहुति दि जाएंगी व शाम को सुंदरकांड का आयोजन होगा। आयोजन समिति ने बताया की महायज्ञ के अवसर पर प्रति दिन पाचो दिन शाम को महाआरती के बाद पुरे गांव का सामुहिक भडारे का आयोजन प्रति दिन होगा। वहीं यज्ञशाला स्थल पर प्रति दिन भजन संध्या का आयोजन व सुंदरकांड का आयोजन व नानी बाई का मायरा क्या आयोजन होंगे।

Post a Comment

 
Top