नई दिल्ली। तो क्या राहुल गांधी कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा देंगे? इसका फैसला आज होने वाली कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में हो जाएगा। लोकसभा चुनावों में बीजेपी को प्रचंड जीत मिली है तो कांग्रेस को करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा है। इसी हार पर मंथन के लिए आज कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक होने वाली है। मीटिंग में सोनिया गांधी, राहुल गांधी समेत कांग्रेस के सभी दिग्गज नेता शामिल होंगे। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक़ राहुल गांधी इस बैठक में इस्तीफे की पेशकश कर सकते हैं। लोकसभा चुनावों में मिली करारी शिकस्त के तुरंत बाद राहुल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस बात की घोषणा कर दी थी कि हार की समीक्षा के लिए बैठक होगी। चुनाव नतीजे राहुल गांधी और कांग्रेस के लिए हैरान करने वाले हैं। मोदी की आंधी ऐसी चली कि समूचे विपक्ष का सुपड़ा साफ हो गया। राहुल की कांग्रेस 17 राज्यों में शून्य पर सिमट गई। सबसे पुरानी पार्टी की झोली में देश भर में महज़ 52 सीटें आईं और कांग्रेस के गढ़ अमेठी को स्मृति ईरानी ने राहुल से छीन लिया। ऐसे में अब राहुल गांधी के नेतृत्व पर सवाल उठना कोई नई बात नहीं है।  पार्टी के सीनियर नेता दबी ज़ुबान में ही सही लेकिन राहुल गांधी की रणनीति पर सवाल उठाने लगे हैं। वहीं चुनाव नतीजों के बाद राहुल गांधी ने पार्टी कार्यकर्ताओं को निराश ना होने की अपील की थी लेकिन मोदी की प्रचंड लहर में मिली इस करारी हार से कांग्रेस में हड़कंप मचा है।

कांग्रेस के दूसरे बड़े दिग्गजों ने भी इस्तीफे की पेशकश की है। उत्तर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर ने राहुल गांधी को अपना इस्तीफा भेज दिया है। वहीं, ओडिशा के कांग्रेस अध्यक्ष निरंजन पटनायक ने भी अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। कर्नाटक के चुनाव कैंपेन समिति के अध्यक्ष एचके पाटिल ने भी राहुल को इस्तीफा भेज दिया है। कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘‘सीडब्ल्यूसी की बैठक में मुख्य रूप से हार के कारणों पर विचार किया जाएगा। इस बारे में भी चर्चा होगी कि पार्टी को किस तरह से मजबूत किया जा सकता है।’’ 2014 लोकसभा चुनावों में 44 सीटें जीतने वाली कांग्रेस को इस बार चुनावों में बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद थी लेकिन उनकी उम्मीदों पर पानी फिर गया। पार्टी को महज़ 8 सीटों का फायदा हुआ।

Post a Comment

 
Top