राजोद। धाकड समाज बारह गांव क्षैत्र की बैठक समीप ग्राम आंनदखेडी धाकड समाज धर्मषाला पर रखी गई ।बैठक मे आस पास गावो के समाजन शामिल हुए बैठक मे समाज अध्यक्ष डॉ. पन्नालाल पोपण्डिया ने गठीत समीती सदस्यो का परिचय करवाया व समाजनो को अपने उत्तरदायित्व के बारे मे बताया डॉ. पोपण्डिया ने कहा कि समाज मे शिक्षा मे प्रगति ओर प्रतिभाओ का सम्मान ओर उचित मार्गदर्षन, प्रतिभा सवर्धन के कार्यक्रम आयोजित करना चाहिए जिस पर समाज बंधुओ से मार्गदर्षन मांगा। समीती मे 121 सदस्य बनाए गए है। बैठक मे शिक्षक देवेन्द्र मेहता ने अपने उदबोधन मे कहा कि प्रतिभा सवर्धन को महत्तव देना चाहिए प्रतिवर्ष प्रतिभा सम्मान का आयोजन हेना चाहिए मेहता ने कहा कि कक्षा 12 मे समाज की सर्वाधिक अंक लाने को प्रथम स्थान पर आने वाली बालिका को प्रोत्साहन राशि पाच हजार द्वितीय स्थान आने वाली छात्रा को तीन हजार व तृतीय स्थान आने वाली छात्रा को दो हजार रू. की प्रोत्साहन राशि देवेन्द्र मेहता कि ओर से दी जाएगी। साथ ही आर्थिक रूप से कमजोर छात्रा  जो 85 प्रतिषत से कक्षा 12 वी उत्तीर्ण की है सिका चयन समीती द्वारा किया जाएगा तथा उसका मेडिकल व इंजिनियरिंग कोचिंग का पचास प्रतिषत खर्च राषि देवेन्द्र -शांतिलाल मेहता की ओर से दि जाएगी।सामुहिक विवाह मे वर वधु पालक अभिभावक की सदस्यता अनिवार्य पर पत्रकार नंदराम नायमा ने अपने विचार व्यक्त किए। सीतराम धनोलिया ने कहा कि समाज मे की बुराईयो को प्रतिबनंधात्मक कर स्ंवय द्वारा प्रतिबंध किया जाए साथ ही मृत्युभोज पर सिमीतता कि जाए ताकि उत्तराधिकारी कर्ज मे न दबे पर प्रकाष डाला। मोतीराम पोपंडिया व गोवर्धन बग्गड ने मृत्युभोज मे सिमीतता, रूठिवादिता आदि पर सकारात्मक विचार रखे। मांगीलाल पोपडिया ने समाजजन को एक जुट होकर कार्य कर समाज को आगे बडाने पर विचार व्यक्त किए। दिनेश बग्गड ने कहा कि समाजजन मुलत कृषि से जुडे हुए है क्षैत्र मे अधिकाधिक कृषि दवाईयो के दुष्प्रभाव से समाज के व्यक्ती को अवगत करावे। जागरूकता फेलाए। राजेश नायमा ने कृषि समीती बनाए जाने पर अपना मत रखा। श्याम मदारिया मे उदबोधन मे कहा कि समााज विकास विचार क्रांति से ही संभव है। कैलाश पीपलीया ने समाज के कार्यक्रम बैठक मे दुव्यर्सन सामग्री को वर्जित करने की बात कही। समाज के  अखिलेष मेहता, राधेश्याम मदारिया,राजाराम आठमिया, नंदराम काकर आदि ने भी अपने विचार रखे। इस अवसर पर समाज के रन्छोण पटेल, लक्ष्मीनारायण पटेल, मांगीलाल पटेल, केषुराम पटेल, भगवान पटेल, नाथुराम पटेल, गोर्वधन पटेल, सोहन मेहता, मांगीलाल गाजी, महेष धाकड, सेवाराम धाकड, बंकट पटेल, शंभुलाल पटेल, दिपक फेमस, गोर्वधन पीपलीया, आनंदीलाल मुकाती, दीपक वीर, प्रखर धाकड, राकेष नायमा, हिरालाल सेकवाडिया, दयाराम सगीत्रा, भेरूलाल सगीत्रा, कैलाश कडोद सहित बडी संख्या मे समाजन मोजुद थे।

इन विषयो पर हुई चर्चा- बेठक मे बारह गांव क्षैत्र तुलनात्मक लिंग, आयु, शिक्षा,व्यवसाय, आदि का सर्वे सुनिष्चित किया जाय साथ ही सामाजिक उत्थान हेतु सामुहिक विवाह का आयोजन  शाब्दिक अर्थानुसार किया जाय अर्थात अल्प व्यय  मे विवाह किया जाए। प्रतिभा प्रोत्साहन, प्रतिभा सवर्धन आदि पर विचारो पर चर्चा हुई।

समीती का किया गठन-बैठक अवसर पर खुवा समीती प्रभारी राजेश नायमा, शिक्षा समीती प्रभारी श्याम मदारिया व कृषक समीती प्रभारी दिनेश बग्गड को मनोनित किया। कार्यक्रम का संचालन अखिलेश मेहता ने किया। जानकारी मिडीया प्रभारी अशोक नायमा ने दी।

Post a Comment

 
Top