नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की नागरिकता पर उठ रहे सवालों पर नोटिस जारी करके उनसे जवाब मांगा है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, गृह मंत्रालय ने भारतीय जनता पार्टी के नेता सुब्रमण्यम स्वामी की चिट्ठी के बाद राहुल को नोटिस जारी किया है और 14 दिनों के अंदर जवाब देने के लिए कहा है। आपको बता दें कि स्वामी ने अपनी चिट्ठी में राहुल के ब्रिटिश नागरिक होने का दावा किया है। इसके पहले अमेठी से चुनाव लड़ रहे एक निर्दलीय ने भी राहुल की नागरिकता पर सवाल उठाए थे।
कुछ दिन पहले लोकसभा चुनाव में अमेठी से निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं ध्रुव लाल ने रिटर्निंग ऑफिसर से शिकायत की थी कि राहुल ने ब्रिटिश नागरिकता ने ली थी और इसलिए उनका नामांकन रद्द किया जाए। शिकायतकर्ता ध्रुव राज के वकील रवि प्रकाश ने दावा किया था कि उनके पास ऐसे दस्तावेज हैं, जिन से यह पता चलता है कि राहुल गांधी ब्रिटिश नागरिक थे। हालांकि बाद में निर्वाचन अधिकारी ने राहुल के नामांकन की जांच कर इसे वैध करार दिया था।
गृह मंत्रालय ने नोटिस जारी कर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से जवाब मांगा है। वहीं, बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यम स्वामी भी गृह मंत्रालय को राहुल की नागरिकता के खिलाफ दो बार पत्र लिख चुके हैं। स्वामी ने 21 सितंबर 2017 को भी इस बारे में एक शिकायत की थी। इसके बाद उन्होंने 29 अप्रैल 2019 को भी एक चिट्ठी लिखी। स्वामी ने अपने पत्र में राहुल के ब्रिटिश नागरिक होने का दावा किया है। इसी पत्र पर गृह मंत्रालय ने राहुल को नोटिस भेजा है और 14 दिनों के अंदर जवाब देने के लिए कहा है। गृह मंत्रालय के नोटिस का जवाब देते हुए कांग्रेस ने राहुल को जन्मजात भारतीय नागरिक बताया है। इस मुद्दे पर बात करते हुए पार्टी के प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा, ‘सारी दुनिया जानती है कि राहुल गांधी जन्म से ही भारतीय नागरिक हैं। मोदी जी के पास बेरोजगारी को लेकर कोई जवाब नहीं है, मोदी जी के पास किसानों की समस्या और काले धन का कोई जवाब नहीं है, इसीलिए वह सरकारी नोटिस के जरिए लोगों का ध्यान भटकाने के लिए नकली कहानी का सहारा ले रहे हैं।’

Post a Comment

 
Top