भोपाल। राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने कहा है कि वैश्विक परिवेश को ध्यान में रखकर देश में शिक्षा के क्षेत्र में निंरतर सुधार की आवश्यकता है। असफलता मिलने पर हार नहीं मानना चाहिए क्योंकि असफलता ही सफलता के अनेक रास्तों को खोलती है। उन्होंने कहा कि शिक्षण संस्थान में प्रवेश, शिक्षण और परीक्षा आदि के कार्यों में आधुनिकतम तकनीक के उपयोग की सम्भावनाओं पर चिंतन किया जाना चाहिए। श्रीमती पटेल आज यहाँ ज्योतिर्मय सम्मान 2019 कार्यक्रम को संबोधित कर रही थीं। श्रीमती पटेल ने कहा कि शिक्षण संस्थाओं में शैक्षणिक स्पर्धाओं का आयोजन किया जाना चाहिए। इससे शैक्षणिक गुणवत्ता के स्तर में सुधार होगा। उन्होंने शिक्षण संस्थाओं का आव्हान किया कि बच्चों को उनकी अभिरूचि के अनुसार आगे बढ़ने के अवसर उपलब्ध करायें। राज्यपाल ने कार्यक्रम में 18 श्रेणियों में पूर्व छात्रों द्वारा चयनित कोचिंग संस्थानों को सम्मानित किया।

Post a Comment

 
Top