नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 के लिए कांग्रेस ने घोषणा पत्र (Congress Party Manifesto) जारी कर दिया है। इस घोषणापत्र को पार्टी ने जनआवाज का नाम दिया है और इसके मुखपृष्ठ पर लिखा है 'हम निभाएंगे।' घोषणापत्र जारी होने के दौरान पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी, यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के अलावा तमाम बड़े नेता मौजूद रहे। घोषणापत्र जारी करने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि इस बार का मुद्दा रोजगार, किसान, भ्रष्टाचार और न्याय योजना है। उन्होंने कहा कि इस चुनाव का नेरेटिव सैट हो गया है, जो गरीबी और रोजगार है। राहुल गांधी ने आरोप लगाते हुए कहा कि 5 सालों में भाजपा ने देश में नफरत फैलाने का काम किया है। हमारी सरकार देश को जोड़ने का काम करेगी। इस दौरान राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बहस करने की चुनौती भी दी। राहुल गांधी ने कहा कि देश की सुरक्षा के मुद्दे पर मैं प्रधानमंत्री को बहस की चुनौती देता हूं। उन्होंने कहा कि भारत की सीमाएं सुरक्षित होनी चाहिए, क्योंकि सुरक्षित सीमाएं भारत की संप्रभुता और अखंडता की रक्षा करती है। हमारी सरकार आने के बाद हम अपने पड़ोसियों के साथ मिलकर सिमाओं की सुरक्षा को तय करेंगे।

प्रधानमंत्री बनने को लकर पूछे गए सवाल पर राहुल गांधी ने कहा कि मै अपना काम कर रहा हूं। प्रधानमंत्री बनाना देश की जनता का काम है। यही नहीं राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि चौकीदार छिप तो सकता है लेकिन भाग नहीं सकता। राहुल गांधी ने भाजपा पर मनरेगा की अनदेखी करने का आरोप लगाया। साथ ही राहुल गांधी ने मनरेगा में 100 दिन के रोजगार को बढ़ाकर 150 दिन करने का वादा भी किया। इसके साथ ही राहुल गांधी ने हिंदुस्तान के किसानों के लिए एक अलग बजट लाने की बात भी कही। कांग्रेस ने ऐलान किया की सत्ता में आने के बाद वो किसानों का कर्ज न चुका पाने को अपराध के दायरे से बाहर कर देगी।  इस दौरान राहुल गांधी ने न्याय योजना पर बलते हुए 'गरीबी पर वार, 72 हजार' का नारा भी लगाया। उन्होंने कहा कि शिक्षा और स्वास्थ्य भारत के विकास के लिए सबसे अहम है, इसलिए हम सरकरी अस्पतालों को मजबूत करने का काम करेंगे। राहुल गांधी ने कहा कि हम गब्बर सिंह टैक्स को जीएसटी में बदलेंगे, जो सरल और सिंपल होगा।

Post a Comment

 
Top