रिंगनोद। भोपावर मार्ग स्थित हिन्दू-मुस्लिम कौमी एकता का प्रतीक हजरत सैय्यद चांदशाह वली दाता रहमतुल्लाह अलैह का एक दिवसीय उर्स सोमवार को धूमधाम से मनाया गया। उर्स सुबह 9 बजे कुरान ख्वानी उसके बाद सुबह 11 बजे से 4 बजे तक शाकाहारी लंगर (भंडारे) का आयोजन हुआ जिसमे बड़ी संख्या में हिन्दू-मुस्लिम भाइयों ने भाग लेकर एक साथ भोजन किया साथ ही सुबह 11 बजे से महफिल ए कव्वाली का आयोजन भी हुआ जिसमें मशहूर कव्वाल पार्टी युसूफ- फारुख कव्वाल पार्टी जावरा ने सूफियाना कलाम "न तख्त न ताज चाहिए हमे तो चाँद शाह वली दाता तेरे दर की खेरात चाहिए "सहित एक से बढ़कर एक कलाम पेश कर शमा बाँधा। शाम 4 बजे रंग और कुल की फातिहा हुई और 5 बजे उर्स समापन पर शाम को हजरत अब्दुल रशिद सैलानी बाबा साहब कुण्डशाहबाद (अमझेरा) और उर्स कमेटी के सदर असलम खान,अतीक कुरैशी,अस्पाक ठेकेदार .असलम चक्कीवाला,सगीर हुसैन द्वारा बहार से आये मेहमानों का साफा बांधकर और पुष्प माला पहनाकर स्वागत सम्मान किया और सफल आयोजन पर मजार शरीफ पर चादर पेशकर  देश की खुशहाली और भाईचारे की दुआएं मांगी गई। उर्स में सय्यद वाहिद भाई मनावर द्वारा सभी को मीठा शर्बत पिलाया गया। उर्स में सैलानी संत नानु बापू नडियाद(गुजरात),जितेंद्र शर्मा इंदौर,छोटू भाई,निसार मिया,विजय राठौर,नोशाद खान,मुक्की बना,उमेश अग्रवाल,मिराज वकील धार,गफ्फार भाई,सरवर खान,मनीषश्रीवास्तव सरदारपुर,प्रशांत डोगर ,तस्सवुर हुसैन,राजू मैकेनिक राजगढ़सूरसिंह डामर ,हाजी अख़लाक़ कुरैशी,रहमत खान, हाजी मंजूर अली,अबरार खान,लताफ़त पटवारी,सरफराज कुरैशी रिंगनोद सहित अमझेरा और अन्य जिलो के बड़ी संख्या में श्रद्धालु मौजूद रहे।



Post a Comment

 
Top