राजगढ़। दादा गुरुदेव श्रीमद्विजय राजेन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. की पाट परम्परा के अष्ठम पट्टधर वर्तमान गच्छाधिपति आचार्यदेवेश श्रीमद्विजय ऋषभचन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. के सदुपदेश से राजगढ़ नगर में 60 वर्षीतप के आराधक आराधना में लीन है इन सभी तपस्वीयों को श्री नागेश्वर तीर्थ व श्री केसरियाजी तीर्थ दर्शन व यात्रा करवाने का लाभ राजगढ़ निवासी अशोककुमार शैतानमलजी जैन परिवार को प्राप्त हुआ है । आचार्यश्री ने मंगलाचरण के पश्चात् सभी तपस्वीयों को आशीर्वाद प्रदान करते हुये कहा कि आप लोग दादा गुरुदेव के क्रियोद्धार स्थल जावरा में बियासना व दर्शन वंदन करेगें । दादा गुरुदेव ने अपने बाल्यकाल में केसरियाजी तीर्थ की भूमि को स्पर्श किया था। आप सभी ऐसे पावनकारी तीर्थ पर श्री आदिनाथ जयंति के अवसर पर तीर्थ की स्पर्शना करने जा रहे है सभी को मेरी ओर से आशीर्वाद है।

इस अवसर पर मुनिराज श्री पुष्पेन्द्रविजयजी म.सा., मुनिराज श्री रुपेन्द्रविजयजी म.सा., मुनिराज श्री जिनचन्द्रविजयजी म.सा., मुनिराज श्री जीतचन्द्रविजयजी म.सा., मुनिराज श्री जनकचन्द्रविजयजी म.सा. एवं वरिष्ठ साध्वी श्री किरणप्रभाश्री जी म.सा., साध्वी श्री सद्गुणाश्रीजी म.सा., साध्वी श्री संघवणश्री जी म.सा. आदि ठाणा की सानिध्यता में श्री आदिनाथ राजेन्द्र जैन श्वे. पेढ़ी ट्रस्ट श्री मोहनखेड़ा तीर्थ की और से मेनेजिंग ट्रस्टी सुजानमल सेठ, सेवंतीलाल मोदी, राजेन्द्र खजांची, दिलीप पुराणी, दिलीप भण्डारी, नरेन्द्र भण्डारी पार्षद, श्रीमती अंगुरबाला खजांची, तेजकुंवर भण्डारी, सपना कापड़ीया, राजकुमारी कापड़ीया, महाप्रबंधक अर्जुनप्रसाद मेहता, सहप्रबंधक प्रीतेश जैन आदि वरिष्ठजनों ने लाभार्थी श्री अशोककुमार शैतानमलजी जैन परिवार का बहुमान किया।

Post a Comment

 
Top