नई दिल्ली। बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के नाम अपने महत्वपूर्ण संदेश में बताया कि अंतरिक्ष में 27 मार्च को भारत दुनिया की चौथी महाशक्ति बन गया है। प्रधानमंत्री ने बताया कि भारत ने आज अंतरिक्ष महाशक्ति, स्पेश पावर के तौर पर दर्ज करा दिया है, अबतक दुनिया के तीन देश अमेरिका, रूस और चीन को यह उपलब्धि हासिल थी, भारत चौथा देश हो गया है और हर हिंदुस्तानी के लिए इससे बड़ा गर्व का पल नहीं हो सकता। प्रधानमंत्री ने कहा कुछ ही समय पूर्व हमारे वैज्ञानिकों ने स्पेश में 300 किलोमीटर दूर, लो अर्थ ऑरबिट (LEO) में एक सैटेलाइट को मार गिराया है, सेटलाइट को एंटी सेटलाइट मिसाइल द्वारा मार गिराया गया है, सिर्फ 3 मिनट में सफलता पूर्वक यह ऑपरेशन पूरा किया गया है।​ प्रधानमंत्री ने बताया कि मिशन शक्ति अत्यंत कठिन ऑपरेशन था, जिसमें उच्च कोटी की तकनीकी क्षमताओं की आवश्यकता थी। हम सभी भारतीयों के लिए यह गर्व की बात है कि यह पराक्रम भारत में ही विकसित मिसाइल द्वारा सिद्ध किया गया है। प्रधानमंत्री ने मिशन शक्ति से जुड़े सभी DRDO वैज्ञानिकों, अनुसंधानकर्ताओं को इस उपलब्धी के लिए बधाई दी है। उन्होंने कहा कि इस आसाधारण सफलता को प्राप्त करने में वैज्ञानिकों ने अपना योगदान दिया और देश का मान बढ़ाया, प्रधानमंत्री ने कहा कि हमें हमारे वैज्ञानिकों पर गर्व है, अंतरिक्ष आज हमारी जीवन शैली की महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है, हमारे पास पर्याप्त संख्या में उपग्रह उपलब्ध हैं जो अपना बहुमूल्य योगदान दे रहे हैं।


जानें, क्या है 'मिशन शक्ति' जिसने भारत को अंतरिक्ष में बनाया महाशक्ति
प्रधानमंत्री ने बताया कि मिशन शक्ति देश की सुरक्षा, आर्थिक ग्रोथ और टेक्नोलोजी के क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए एक महत्वपूर्ण उपलब्धि है, उन्होंने कहा कि मिशन शक्ति एक कठिन लक्ष्य था लेकिन लॉन्च के 3 मिनट के अंदर इसे सफलता पूर्वक हालिस कर लिया गया। संदेश देने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दोपहर 11.23 बजे अपने ट्विटर हेंडल से ट्वीट किया था कि वह आज देश के नाम एक महत्वपूर्ण संदेश देने जा रहै हैं, प्रधानमंत्री ने संदेश का समय 11.45 बजे से लेकर 12 बजे के बीच बताया गया था लेकिन उन्होंने निर्धारित समय से लगभग आधा घंटा बाद देश के नाम अपना महत्वपूर्ण संदेश दिया।

Post a Comment

 
Top