भोपाल। मध्यप्रदेश में लोकसभा चुनाव तक समाजवादी पार्टी की कार्यकारिणी का गठन खटाई में पड़ गया है। इस तरह यह पहला मौका होगा जब सपा अपनी प्रदेश कार्यकारिणी के बगैर ही लोकसभा चुनाव लड़ेगी। मप्र में सपा को बसपा के साथ चुनावी समझौते में तीन सीटें मिली हैं। पार्टी हाईकमान अब चुनाव के बाद ही प्रदेश कार्यकारिणी के गठन के प्रस्ताव पर काम कर रहा है। लोकसभा चुनाव की आहट पाते ही प्रदेश में कांग्रेस, भाजपा और बसपा सहित सपा भी चुनावी तैयारियों में जुट गई है। प्रदेश में अभी सपा की प्रदेश कार्यसमिति अस्तित्व में नहीं है, विधानसभा चुनाव में पार्टी के खराब प्रदर्शन के चलते सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने 22 जनवरी को प्रदेश इकाई को भंग कर दिया था। सवा महीने बाद भी कार्यकारिणी गठन की दिशा में कोई पहल नहीं हुई। बताया जाता है कि सपा अध्यक्ष ने प्रदेश में लोकसभा की तीन सीटें खजुराहो, बालाघाट और टीकमगढ़ के चुनाव में पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं को जुट कर काम करने की नसीहत दी है। चुनाव के नतीजों के बाद पार्टी की कमान किसे सौंपना है इसका निर्णय भी तभी किया जाएगा।

सभी नेताओं को मिलेगी जवाबदारी -
पार्टी सूत्रों का दावा है कि लोकसभा चुनाव के पहले यदि प्रदेश इकाई का गठन किया जाता है तो पार्टी के कार्यकर्ता पूरी ताकत और जोश से सक्रिय नहीं रहेंगे इसलिए हाईकमान ने तय किया है कि चुनाव के बाद ही नई कार्यकारिणी का गठन किया जाएगा। अभी पार्टी के सारे फैसले लखनऊ से ही लिए जा रहे हैं। सपा का टिकट मांगने वालों की भीड़ लखनऊ मुख्यालय में ही उमड़ रही है। बताया जाता है कि तीनों प्रत्याशियों का चयन चुनावी अधिसूचना के बाद ही किया जाएगा।

जिताऊ प्रत्याशी की तलाश-
सपा के प्रदेश प्रभारी जगदेव यादव ने एक चर्चा में स्वीकार किया कि प्रदेश इकाई का गठन अब लोकसभा चुनाव के बाद ही किया जाएगा। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय अध्यक्ष का यही मानना है कि पार्टी के सभी पूर्व पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को चुनाव की जवाबदारी सौंपी जाएगी। चुनाव के बाद ही कार्यकारिणी का नए सिरे से गठन किया जाएगा। प्रत्याशी चयन के सवाल पर उन्होंने बताया कि जिताऊ चेहरे की तलाश चल रही है। राष्ट्रीय अध्यक्ष के पास टिकट के कई दावेदारों ने अपने आवेदन दिए हैं। इनमें कांग्रेस और भाजपा के भी कई नेता हैं जिनमें पूर्व सांसद और पूर्व विधायक भी शामिल हैं। यादव ने बताया कि चुनावी तैयारी और प्रत्याशी चयन की प्रक्रिया अभी चल रही है।

Post a Comment

 
Top