धार। मालवा-निमाड़ में भाजपा के लोकसभा चुनाव प्रचार का शंखनाद मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने धार से किया। शहर के पीजी कॉलेज मैदान में आयोजित विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस नेताओं को पाकिस्तान का पोस्टर बॉय करार दिया। एयर स्ट्राइक पर सवाल खड़े कर रहे कांग्रेस नेताओं पर मोदी ने हमलावर रुख अपनाया।उ न्होंने कहा कि एयर स्ट्राइक पाकिस्तान में हुई, लेकिन सदमा भारत में बैठे कुछ लोगों को लगा है। विपक्ष में बैठे लोग ऐसे मुंह लटकाए बैठे हैं, मानो उन पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। मोदी को सुनने के लिए सभास्थल तो खचाखच भरा ही था, सड़कों से लेकर इमारतों की छतों पर भी लोग जमा थे।

मोदी ने स्थानीय आदिवासी बोली में संबोधन की शुरुआत की। आलीराजपुर, झाबुआ और रतलाम के लोगों से हाल पूछा। होली की शुभकामनाएं दीं और भारत माता के जयघोष के साथ संबोधन की शुरुआत की। मोदी-मोदी के नारों के बीच प्रधानमंत्री ने जनता से पूछा कि आतंकियों को समाप्त कौन कर सकता है तो भीड़ ने मोदी-मोदी के नारे लगाए।

इस पर मोदी ने कहा कि मोदी नहीं, आप देश के सवा सौ करोड़ आतंकियों को जवाब देंगे और खत्म करेंगे। प्रधानमंत्री ने कांग्रेस नेताओं का नाम लिए बगैर निशाना साधा। मोदी बोले- भारत में वर्षों तक मिलावट करने वाले अब पाकिस्तान के साथ मिलकर मिलावट कर रहे हैं। ये लोग यहां मोदी को गाली देते हैं तो पाकिस्तान में इनके लिए तालियां बजती हैं।
प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की ओर इशारा करते हुए पीएम ने कहा- इन महाशय ने आज सुबह पुलवामा में सेना पर हुए आतंकी हमले को दुर्घटना करार दिया। ये आतंकियों को बचाने के लिए हमले को एक हादसा बता रहे हैं। ये आतंकी हमले की गंभीरता कम करने की कोशिश है। नामदार परिवार के ये वो लोग हैं, जिन्हें आतंकी ओसामा भी शांतिदूत नजर आता है। इन्होंने ही मुंबई हमले में पाकिस्तान को क्लीनचिट दी थी। बाटला हाउस में जब आतंकियों के खिलाफ एनकाउंटर हुआ था तो ऐसे ही दरबारी ने बताया था कि रिमोट से सरकार चलाने वाली मैडम के आंसू नहीं रुक रहे थे। ऐसी कांग्रेस से क्या हम उम्मीद कर सकते हैं कि वो आतंक खत्म करे। उनमें न दम है, न इस बात का माद्दा है, न ही इनका इरादा है।

प्रधानमंत्री ने जनता से सवाल पूछा कि कौन कर सकता है आतंकियों का सफाया। पीएम के सवाल पर लोगों का हुजूम मोदी-मोदी के नारे लगाने लगा। इस पर मोदी बोले मोदी नहीं, सवा सौ करोड़ देशवासी मिलकर ये कर सकते हैं। इसी कांग्रेसी रवैये के चलते आतंकियों को पहले मुंहतोड़ जवाब नहीं मिल सका था। हम आतंकियों के स्लीपर सेल पर स्ट्राइक कर रहें हैं, जबकि पहले ये आतंकी हमलों के बाद चुप बैठ जाते थे या आंसू बहाते थे।

मोदी ने विपक्षियों की ओर इशारा करते हुए कहा कि एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान अलग-थलग पड़ा तो ये लोग उसकी इज्जत बताने सामने आ गए। कोई सबूत मांगने लगा तो कोई आतंकियों की लाशों की संख्या गिनने लगा। जब पूरा देश आतंक के खिलाफ एक हो रहा है तो ये सेना से सबूत मांग सेना का मनोबल तोड़ने का काम कर रहे हैं। ये आतंक के खिलाफ भारत की लड़ाई को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कमजोर कर रहे हैं। देश से प्रेम करने वाले एक हो रहे हैं तो मोदी के खिलाफ ये सारे नफरत करने वाले लोग एक हो रहे हैं। मोदी ने कहा सर्जिकल स्ट्राइक जैसी कार्रवाई का फैसला लेने का हौसला तब आता है जब देशहित सर्वोपरि हो। अपने परिवार का हित नहीं।

प्रधानमंत्री ने मंगलवार से अहमदाबाद से श्रमिकों के लिए शुरू की गई नई योजना की जानकारी भी सभा में मौजूद धार-झाबुआ के आदिवासियों को देते हुए कहा कि सरकार की इस योजना मे हर श्रमिक को 60 वर्ष की उम्र के बाद पेंशन मिलेगी जैसे सरकारी कर्मचारी को मिलती है। श्रमिक को बस 100 रुपए महीने या इच्छा से पैसा जमा करना होगा। पेंशन योजना मे जितना पैसा श्रमिक जमा करेगा उतना ही सरकार भी जमा करेगी। आज योजना का पहला दिन था और एक ही दिन में 14 लाख लोग इस योजना से जुड़ गए हैं। सभी 14 लाख लोगों का पैसा आज ही सरकार ने जमा करवा दिया। मोदी ने कहा कि हमने बीते महीने प्रधानमंत्री किसान समृद्धि योजना शुरू की। इसमे 75 हजार करोड़ रुपए किसानों के खाते मे जमा होना है। इस योजना की पहली किस्त किसानों के खाते में पहुंच भी चुकी है। लेकिन मुझे दुख के साथ कहना पड़ रहा है कि मप्र के एक भी किसान को इसका लाभ नहीं मिल सका है। हम तो पैसे देने को तैयार है लेकिन मप्र सरकार किसानों की सूची नहीं दे रही। उनको लग रहा है कि दो हजार रुपए किसानों के खाते में चले जाएंगे तो उनकी नाक काट जाएगी। शीशे मे देखना चाहिए कि नाक बची ही नहीं है। इन्होंने कहा था 10 दिन में किसानों का कर्जा माफ नहीं किया तो मुख्यमंत्री बदल देंगे। न कर्जा माफ हुआ, न मुख्यमंत्री बदले। ये लोग आंखों मे धूल झोंकने और झूठ बोलने में माहिर हैं। इन्हें न जवानों की चिंता, न किसानों की और न ही नौजवानों की। शिवराज के जाने के बाद और कांग्रेस के आने के बाद मप्र की क्या स्थिति है ये आप जानते हैं। ये 15 साल से भूखे थे, एक साथ टूट पड़े हैं। सरकार के साथ प्रदेश में कांग्रेस कल्चर भी आ गया।

प्रधानमंत्री ने आरोप लगाया कि कांग्रेस सरकार ने धार और मालवा क्षेत्र के साथ भी हमेशा धोखा किया। इंदौर-दाहोद रेल लाइन का भूमिपूजन कर भुला दिया, अब हम उसे पूरा कर रहे हैं। धार-छोटा उदयपुर रेल प्रोजेक्ट पर भी तेजी से काम चल रहा है। धार को दो नेशनल हाइवे से भी हमारी सरकार ने जोड़ा है।

सभा में मौजूद पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने लोगों से पूछा कि प्रदेश में नई सरकार बने कुछ ही दिन हुए हैं, लेकिन आपको फर्क महसूस हो रहा होगा। काम नहीं, सिर्फ तबादले हो रहे हैं। हर तरफ लूट मची है। मामा की याद आ रही है या नहीं। विधानसभा में ऊंच-नीच हो गई लेकिन अब लोकसभा में मत होने देना। सभा में नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव, मप्र के लोकसभा के प्रभारी और उप्र योगी सरकार के मंत्री स्वतंत्रदेव सिंह, भाजपा के प्रदेश अध्य्क्ष राकेश सिंह, विक्रम वर्मा समेत तमाम भाजपा नेता मौजूद थे। धार की सांसद सावित्री ठाकुर ने प्रधानमंत्री को तीर-कमान और साफा पहनाकर आदिवासी परंपरा से स्वागत किया।

Post a Comment

 
Top