रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री सुब्रत साहू ने कहा है कि लोकतंत्र के महापर्व में स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव सम्पन्न कराना चुनौतीपूर्ण कार्य है। गत छत्तीसगढ़ विधानसभा निर्वाचन 2018 का चुनाव सबकी सहभागिता से स्वतंत्र और निष्पक्ष रूप से सम्पन्न कराया गया। श्री साहू आज मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय में अध्ययन भ्रमण में आए विद्यार्थियों को सम्बोधित कर रहे थे। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय में अध्ययन भ्रमण पर अब तक रायपुर और बिलासपुर जिले के लगभग 500 महाविद्यालयीन विद्यार्थियों ने निर्वाचन संचालन प्रक्रिया और गतिविधियों का अवलोकन किया है। श्री साहू ने अध्ययन भ्रमण में आए विद्यार्थियों को शत-प्रतिशत मतदान करने  की दिलायी। अध्ययन भ्रमण के दौरान आज शासकीय इंजीनियरिंग महाविद्यालय रायपुर, शासकीय कन्या पॉलीटेक्निक बैरनबाजार रायपुर और शासकीय सह शिक्षा पॉलीटेक्निक रायपुर के 90 विद्यार्थियों को निर्वाचन प्रक्रिया की जानकारी दी गई।   इस दौरान विद्यार्थियों ने मीडिया सेल, कॉल सेंटर, स्वीप सेंटर, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया मानिटरिंग सेल, सोशल मीडिया सेल, फोटो प्रदर्शनी, सी-विजिल नियंत्रण कंक्ष समेत अन्य प्रमुख प्रकोष्ठों का अवलोकन किया। उल्लेखनीय है कि युवाओं में मतदान के प्रति जागरूकता और शत-प्रतिशत मतदान सुनिश्चित कराने के उद्देश्य से सीईओ श्री साहू द्वारा अध्ययन भ्रमण कराने की अभिनव पहल शुरू की गई है।  श्री साहू ने विद्यार्थियों से मुलाकात के दौरान उनके सवालों के जवाब दिए। श्री साहू ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग संवैधानिक शक्तियों का प्रयोग करते हुए निर्वाचन प्रक्रिया संपन्न कराती है। आचार संहिता लागू होते ही निर्वाचन संपन्न कराना निर्वाचन आयोग की जिम्मेदारी होती है। इस दौरान अनैतिक गतिविधियों पर निर्वाचन आयोग विशेष नजर रखता है। पकड़े जाने पर निर्वाचन नियमों तथा धाराओं के तहत कार्यवाही की जाती है। श्री साहू ने ईवीएम और वीवीपैट मशीन के संबंध में जानकारी दी। साथ ही ईवीएम में नोटा आप्शन के उद्देश्य के बारे में भी बताया। श्री साहू ने विद्यार्थियों को ईवीएम हैक के बारे में चल रहे अफवाहों के संबंध में बताया कि ईवीएम मशीन पूरी तरह सुरक्षित है। इसे कोई भी हैक नही कर सकता। किसी भी डिवाईस को हैक करने के लिए कनेक्टिविटी की जरूरत होती है, जो ईवीएम मशीन में नहीं है।  उन्होंने निर्वाचन पूर्व की जाने वाली तैयारियों के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि निर्वाचन निर्धारित समय-सीमा में संपन्न कराना होता है। इसके लिए बड़ी संख्या में मैदानी अमलों को प्रशिक्षण दिया जाता है। साथ ही सुरक्षा के लिए से बड़ी संख्या में पुलिस एवं सुरक्षा बल तैनात किए जाते हैं। व्यापक प्रबंध सुनिश्चित करते हुए वाहन व्यवस्था एवं उनका संचालन भी सुनिश्चित किया जाता है। इस अध्ययन भ्रमण के दौरान महाविद्यालयों के विद्यार्थी निर्वाचन प्रक्रिया को जानने को लेकर काफी उत्साहित थे। सी.ई.ओ. कार्यालय के सहायक मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री रूपेश वर्मा एवं श्रीमती शारदा अग्रवाल और मतदाता जागरूकता फोरम के मास्टर ट्रेनर श्री प्रशांत पाण्डेय ने विद्यार्थियों को इन कक्षों में संचालित कार्यो की जानकारी दी। इस दौरान भ्रमण में आए कुछ युवा ने मीडिया सेल के काम से प्रभावित होकर यहाँ प्रशिक्षु के तौर पर कार्य करने की इच्छा भी जताई। इस पर अधिकारियों ने भविष्य में ऐसी व्यवस्था करने का आश्वासन भी दिया। सभी विद्यार्थियों को इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईव्हीएम), वोटर वेरिफाएबल पेपर ऑडिट ट्रेल (व्हीव्हीपेट) के प्रादर्श की व्यावहारिक जानकारी दी गई। नये युवा मतदाताओं ने ईव्हीएम तथा व्हीव्हीपैट का संचालन करके भी देखा।
   

Post a Comment

 
Top