राजगढ़। नगर के पालिका नीधि कॉम्पलेक्स स्थित सहारा इंडिया फ्रेंचाइजी कार्याल के प्रमुख पंकज शर्मा ने शनिवार देर रात्रि को अपने ही ऑफिस में डिप्रेशन के चलते फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली थी। शर्मा से एक सुसाइड नोट भी मिला था जिसमे उन्होंने लगातार ही खाताधारकों द्वारा पॉलिसी परिपक्व होने पर रुपयों की मांग करने एवं सहारा द्वारा खाता धारकों के रुपयों का भुगतान नहीं किया जाने से परेशान होकर आत्महत्या करना बताया था। शर्मा ने सुसाइड नोट में कुछ लोगो को अपनी मौत की वजह बताया था। इस पुरे मामले में पुलिस जांच में जुटी हुई हैं एवं प्रकरण दर्ज नही किया गया हैं। वही इस मामले को लेकर ब्राम्हण समाज ने ज्ञापन सौपकर कार्यवाही की मांग की हैं।

आरोपियों पर जल्द हो कार्रवाई - आज नगर की ब्राम्हण समाज ने पुलिस थाने पर एसडीओपी ऐश्वर्य शास्त्री एवं नगर परिषद में विधायक प्रताप ग्रेवाल को एक ज्ञापन सौपा हैं। जिसमे बताया गया कि पंकज शर्मा ने  सेक्टर मैनेजर, रीजनल मैनेजर, झोनल मैनेजर की प्रताण्डना से तंग फांसी लगाई हैं। मृतक पंकज शर्मा ने सहारा इंडिया के सेक्टर मैनेजर मनोज दुबे धामनोद, रीजनल मैनेजर माधवकुमार सिंह झाबुआ, अजयकुमार श्रीवास्तव इंदौर एवं भोपाल झोनल प्रमुख घनश्याम सिह पर प्रताड़ना का आरोप लगाया हैं और सुसाइड नोट में लिखा हैं लेकिन अभी तक कोई ठोस कार्रवाई नहीं हुई हैं। ब्राम्हण समाज द्वारा सहारा इंडिया पर जल्द से जल्द कार्रवाई की मांग की हैं। ज्ञापन के दौरान बड़ी संख्या में समाजजन मौजूद थे।

कथन ले रहें हैं, जल्द होगी एफआईआर - शर्मा द्वारा आत्महत्या करने के बाद नगर में सहारा इंडिया कम्पनी के प्रति गुस्सा देखने को मिल रहा हैं। इधर पुरे मामले में जब सरदारपुर एसडीओपी ऐश्वर्य शास्त्री से चर्चा की तो उन्होंने बताया की मृतक के परिजन एवं मित्रो के कथन ले रहें हैं। पीएम रिपोर्ट भी आना बाकि हैं। मृतक पंकज शर्मा ने जो सुसाइड नोट छोड़ा था उस पर जो हस्ताक्षर हैं उन्हें मैच करने में समय लग रहा है। जल्द ही कार्यवाई करेंगे।

Post a Comment

 
Top