राजगढ़। नगर के पालिक निधी कॉम्पलेक्स की स्थित सहारा इंडीया फ्रेंचाइजी कार्यालय के प्रमुख पंकज शर्मा निवासी दलपुरा ने बिती रात्री सहारा के कार्यालय में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। शर्मा से मिले सुसाइड नोट में यह लिखा था की सहारा कंपनी द्वारा खाता धारको का रूपैया नही देने पर उन्हें लगातार खाता धारको का प्रेशर था। इसी के चलते उन्होने आत्म हत्या कर ली। आज सुबह शर्मा के शव का पीएम कर शव को परिजनों के सुपुर्द किया गया। वही पुलिस एवं एफएसल टीम ने शर्मा के कार्यालय पर पहुंचकर कई कागजात टटौले। टीम को एक और सुसाइड नोट शर्मा के कार्यालय से प्राप्त हुआ है। इधर सहारा के अभिकर्ताओं ने पुलिस थाने पर ज्ञापन देकर सुसाइड नोट में लिखे लोगो के विरूद्ध एवं सहारा पर कार्यवाह की मांग की।
एफएसएल एवं पुलिस पहुंची कार्यालय - आज सुबह एफएसएल टीम एवं पुलिस टीम शर्मा के कार्यालय पहुंची। जहां उन्होंने बारीकी सी हर पहलू की जांच की एवं कई दस्तावेज देखे। इसी दौरान टीम को शर्मा के कार्यालय में बने केबिन से कम्प्यूटर के पास से एक और सुसाइड नोट मिला। जिसमें भी वहीं लिखा हुआ है जो शर्मा के जेब से मिले सुसाइड नोट में लिखा हुआ है। उक्त सुसाइड नोट में भी शर्मा के हस्ताक्षर है जिसे पुलिस ने जप्त किया। वहीं एफएसएल टीम एवं पुलिस ने आत्महत्या में उपयोग की गई रस्सी, शर्मा के जुते एवं हस्ताक्षर के नमुने हेतु कुछ दस्तावेज जप्त कर अपने साथ ले गए। कार्यालय में जांच के दौरान थाना प्रभारी ब्रजेश मिश्रा, एफएसएल अधिकारी पिंकी मेहडे, आरक्षक अरूण कदम, देवेन्द्र सिंह आदी मौजुद थे।

जांच में जुटी पुलिस - सहारा फ्रेचाइजी प्रमुख पंकज शर्मा का आज सुबह सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सरदारपुर पर पोस्टमार्डम किया गया। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के डॉ. नोशाद नकवी ने बताया की शव पर किसी तरह के चोट के निशान नही थे। मृत्यू की वजह फांसी पर लटकना है। वहीं पुरे मामले में सरदारपुर एसडीओपी ऐश्वर्य शास्त्री ने बताया की घटना की जानकारी मिलते ही शव पीएम हेतु भेजा गया। पुलिस हर पहलूओं पर जांच कर रही है। सुसाइड नोट मिले है जिनपर शर्मा के हस्ताक्षर है। हस्ताक्षर का मिलान किया जाएगा। पुलिस पुरी तरह जांच में जुट गई है। जो भी तथ्य मिलेगा उस आधार पर कार्रवाही करेंगे।
सहारा अभिकर्ताओं ने सौंपा ज्ञापन - सहारा फ्रेइंचाइजी प्रमुख पंकज शर्मा के अंतिम  संस्कार के बाद बड़ी संख्या में सहारा कंपनी के अभिकर्ता पुलिस थाने पर पहुंचे। जहां उनके द्वारा टीआई ब्रजेश मिश्रा को ज्ञापन सौपत हुए सुसाईड सुसाइड नोट में जिन लोगो का नाम लिखा है उनपर कार्यवाही करने एवं अभिकर्ताओं द्वारा जमा कि गई राशि लौटाने की मांग की गई। अभिकर्ताओं ने कहां की कंपनी द्वारा राशि नही देने पर वे सभी मानसीक रूप से पिड़ीत है।

Post a Comment

 
Top