नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले के बाद भारतीय वायुसेना द्वारा पाकिस्तान के खिलाफ बड़ी कार्रवाई में 200-300 आतंकियों के मारे जाने की खबर है। सूत्रों के मुताबिक एनएसए अजीत डोभाल ने इस एयर स्ट्राइक के बारे में पीएम नरेंद्र मोदी को जानकारी दी है। इस हमले के बाद भारतीय वायुसेना हाई अलर्ट पर है। सीमा पर सटे स्थानीय लोगों ने भी बताया है कि सोमवार रात से ही सीमा पर लड़ाकू विमानों की आवाजें आ रही थीं। वायुसेना के मिराज 2000 ने मुजफ्फराबाद, बालाकोट, चकोटी, गढ़ी हबीबुल्लाह के आतंकी अड्डों के अलावा खैबर पख्तूनख्वा में मौजूद अड्डों पर भी एयर स्ट्राइक की। वायुसेना ने अटैक में लेजर गाइडेड बम का इस्तेमाल किया और मिराज 2000 ने एक हजार किलो के 10 बम गिराए। एयर स्ट्राइक में जैश का अल्फा-3 कंट्रोल रूम पूरी तरह तबाह हो गया है और 200 से 300 आतंकियों के मारे जाने की खबर है। बड़ी बात ये है कि वायुसेना ने सिर्फ 40 मिनट में इस ऑपरेशन को कामयाब के साथ पूरा किया और सभी फाइटर जेट वापस लौट आए। सूत्रों के अनुसार 1971 भारत-पाक युद्ध के बाद पहली बार भारतीय वायुसेना ने सीमा पार जाकर हमला किया है। मुजफ्फराबाद के रास्ते भारतीय लड़ाकू विमानों ने जैश के अल्फा 3 कंट्रोल रूम को पूरी तरह नेस्तनाबूद कर दिया। सूत्रों के मुताबिक इस हमले में आतंकियों को काफी नुकसान की खबरें हैं। बालाकोट और चकोटी में आतंकी संगठन जैश के ठिकानों को भी ध्वस्त करने की खबरें हैं। सूत्रों के अनुसार भारत ने पूरी तैयारी के साथ यह हमला किया है। लड़ाकू विमानों के हवा में ही फ्यूल भरने की भी व्यवस्था की गई थी। पीएम नरेंद्र मोदी ने भारतीय सुरक्षाबलों को कार्रवाई करने की पूरी छूट दे दी थी। सुरक्षाबलों ने पूरी तरह सोच समझकर यह ऐक्शन लिया है। बता दें कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद आतंकी संगठन जैश ने इसकी जिम्मेदारी ली थी।

Post a Comment

 
Top