भोपाल। विभागों के बंटवारे के बाद आज कमलनाथ कैबिनेट की पहली बैठक हुई। इस बैठक में किसानों की कर्ज माफी को औपचारिक मंजूरी दी गई है। बैठक के बाद उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने बताया कि, "मुख्य फसल ऋण माफी योजना में किसानों का दो लाख तक का कर्जा माफ किया गया है। पहले 31 मार्च, 2018 तक जिन किसानों ने लोन किया था, उन्हें शामिल किया गया था, लेकिन अब योजना का लाभ 12, दिसंबर 2018 के बीच लोन लेने वाले किसान भी शामिल होंगे।" इस योजना से पूरे प्रदेश के 55 लाख किसानों को फायदा मिलेगा। सरकार ने सबसे ज्यादा जोर लघु और सीमांत किसानों को फायदा पहुंचाने पर दिया है। लगभग 35 लाख ऐसे किसानों का कर्जा माफ होगा। फिर चाहें किसानों ने सहकारी, सार्वजनिक क्षेत्र या क्षेत्रीय बैंकों से कर्ज लिया हो। 22 फरवरी से किसानों के खातों में राहत राशि पहुंचने लगेगी। विकास खंड के मुख्य कार्यपालन अधिकारी पर योजना को अमलीजामा पहनाने की जिम्मेदारी होगी। 26 जनवरी से किसानों से कर्ज माफी के फॉर्म भराए जाएंगे। मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत 51 हजार की सहयोग राशि देने पर भी कैबिनेट की औपचारिक मंजूरी मिली है।

Post a Comment

 
Top