रायपुर। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल आज जिला मुख्यालय जांजगीर स्थित जैतखाम केरा रोड पहुंचे और यहां आयोजित जिला स्तरीय गुरू घासीदास जयंती समारोह में शामिल हुए। उन्होंने श्वेत ध्वज के साथ जैतखाम की परिक्रमा कर पूजा-अर्चना की और राज्य की सुख समृद्धि की कामना की। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने केरा रोड में आयोजित गुरू घासीदास जयंती समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि बाबा गुरू घासीदास जी के विचार और सिद्धांत आज भी प्रासंगिकहै। उन्होंने कहा कि संत किसी एक समाज के लिए नही होते, वे पूरे मानव समाज के लिए होते हैं। उनका संदेश सभी के लिए उपयोगी और प्रेरणादायी होता है। उन्होंने कहा कि बाबा गुरू घासीदास ने लोगों को सच्चाई के रास्ते पर चलाना सिखाया है। उन्होंने कहा कि बाबा गुरू घासीदास ने जाति विहीन समाज की परिकल्पना को सार्थकता प्रदान करते हुए मनखे-मनखे एक समान का संदेश देकर मानव समाज को एक सूत्र में पिरोने का प्रयास किया, जो पूरे समाज के लिए अनुकरणीय है। उन्होंने कहा कि गुरू घासीदास ने छत्तीसगढ़ी भाषा को भी आगे बढ़ाया, इसका प्रमाण पंथी गीत है। उनका करूणा का दायरा व्यापक था। उन्होंने केवल मनुष्यों के लिए नहीं सोचा, बल्कि पशु-पक्षियों के लिए भी करूणा का संदेश दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि बाबा गुरू घासीदास के बताये मार्ग पर चलकर छत्तीसगढ़ राज्य को और अधिक विकसित और समृद्ध राज्य बनायेंगे। उन्हांेने कहा कि छत्तीसगढ़ की सरकार किसान और मजदूरों की सरकार है। हमनें मात्र 10 दिनों के भीतर किसानों की कर्ज माफ किया है। अब किसान भाई नये उत्साह और उमंग से खेती-किसानी का कार्य कर सकेंगे। इसी तरह राज्य मंे धान की खरीदी 2500 रूपये प्रति क्विंटल की दर से की जा रही है। इससे किसानों के जीवन में समृद्धि आएगी। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीयकृत बैंकों से लिये गये कृषिऋण को भी माफ करने पर विचार किया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि सिंचाई बांधों में पानी होने पर गर्मी फसल के लिए पानी दिया जाएगा। मवेशियों के लिए चारे की भी व्यवस्था होगी। गौठानों के लिए बाउंड्रीवाल बनाया जाएगा। जयंती समारोह को नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री श्री शिव डहरिया ने भी  संबोधित किया। उन्होंने कहा कि गुरू घासीदास स्मरणीय एवं विश्व वंदनीय है। उनके विचारों से विकास और शांति की प्रेरणा मिलती है। उन्होंने कहा कि राज्य में छत्तीसगढ़िहा मुख्यमंत्री के साथ-साथ पूरा सरकार छत्तीसगढ़िहा है, अब छत्तीसगढ़िहों का सपना साकार होगा। उन्होंने लोगों को बाबा के बताये गये मार्ग पर चलने का आग्रह किया ताकि मानव समाज मंे सुख, समृद्धि और शांति बना रहे।जयंती समारोह को सांसद श्रीमती कमलादेवी पाटले, विधायक श्री नारायण चंदेल और बिलाईगढ़ विधायक श्री चन्द्रदेव राय और श्री हरनाम सिंह ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर श्रीमती मंजू सिंह और श्री रमेश पैगवार ने मुख्यमंत्री को शॅाल, खुमरी और प्रतीक स्वरूप नांगर भेंट कर स्वागत किया। इसके पूर्व छात्रावासी छात्र-छात्राआंे ने पंथी गीत एवं नृत्य के माध्यम से गुरू घासीदास के बताये गये मार्ग और सिंद्धांत को रेखांकित किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने तृतीय वर्ग कर्मचारी संघ जिला जांजगीर द्वारा प्रकाशित वार्षिक कलेण्डर का विमोचन किया।

Post a Comment

 
Top