राजगढ़। कार्तिक कृष्ण पक्ष की तृतीया युक्त चतुर्थी पर शनिवार को करवा चौथ व्रत, पुजन एवं चंद्र दर्शन होगा। नगर के पांच धाम एक मुकाम श्री माताजी मंदिर के ज्योतिषाचार्य श्री पुरूषोत्तमजी भारद्वाज ने बताया की शनिवार करवा चौथ के दिन अमृत सिद्धी योग एवं सर्वार्थ सिद्धी जैसे दुर्लभ योग के साथ राजप्रद योग में सुहाग का महापर्व मनाया जावेगा। इस शुभ के बिच रात्रि 8 बजकर 11 मिनट पर चंद्रोदय होवेगा। इस दिन चतुर्थी तिथी सायं 7 बजकर 40 मिनट पर प्रारंभ होवेगी। जो अगले दिन रविवार सायं 6 बजकर 01 मिनट तक रहेंगी। ऐसे में शनिवार को ही महिलाएं करवा चौथ का व्रत कर अखण्ड सुहाग की कामनाएं करेगी। इस बार करवा चौथ के दिन शनिवार और रोहिणी नक्षत्र होने से अमृत सिद्धी योग बन रहा है। इस दिन व्रत करने से पति की दिर्घायु और आरोग्यता के लिए विशेष फलदायी होगा। इस दिन महिलाए चौथ माता की पूजा करने के साथ कथा, कहानी सुनने से विशेष फलदायी होगा। इसके पश्चात चंद्रोदय होने पर चन्द्रमा को अर्घ दिया जावेगा। इस बार कई वर्षो बाद करवा चौथ पर ऐसा दुर्लभ योग बना है जो महिलाओं के सौभाग्य की कामना के लिए विशेष है।

Post a Comment

 
Top