झाबुआ। दादा गुरुदेव श्रीमद्विजय राजेन्द्रसूरीश्वर जी म.सा. की पाट परम्परा के अष्ठम पटधर वर्तमान गच्छाधिपति आचार्यदेवेश श्रीमद्विजय ऋषभचन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. की पावनतम निश्रा एवं पूज्य मुनिराज श्री रजतचन्द्रविजयजी म.सा., मुनिराज श्री जिनचन्द्रविजयजी म.सा., मुनिराज श्री जीतचन्द्रविजयजी म.सा., मुनिराज श्री जनकचन्द्रविजयजी म.सा., साध्वी श्री रत्नरेखाश्री जी म.सा., साध्वी श्री अनुभवदृष्टाश्री जी म.सा., साध्वी श्री कल्पदर्शिताश्री जी म.सा. आदि ठाणा की सानिध्यता में झाबुआ शहर में वर्षावास 2017 के दौरान प्रभु श्री नेमीनाथ भगवान का च्यवन, जन्म, दीक्षा, कैवलज्ञान एवं मोक्ष कल्याणक प्रवचन पाण्डाल में मनाया गया । पूज्य मुनिराज श्री रजतचन्द्रविजयजी म.सा. मुखारविंद से मंगलाचरण के पश्चात च्यवन कल्याणक की विधि प्रारम्भ की गयी।
लाभार्थी श्री विजयकुमारजी बाबुलालजी चौधरी परिवार ने दीप का प्रकटीकरण किया तत्पश्चात् भगवान की माता शिवादेवी द्वारा देखे गये 14 दिव्य स्वप्नों का मंचन 14 स्वप्नों को लेकर स्वप्न परियों द्वारा नृत्य के साथ प्रस्तुति दी । पश्चात् भगवान का जन्मोत्सव मनाया गया भगवान के जन्म के समय पालना झुलाने का लाभ श्रीमती विमलाबेन मोहनलालजी राठौर परिवार द्वारा लिया । लघु नाटिका के माध्यम से प्रभु के विवाह के दृश्य का मंचन किया गया जिसमें प्रभु की बारात में परोसे जाने वाले जीवों के मांस की बात प्रभु ध्यान में रखकर अपनी बारात से दीक्षा के मार्ग की और प्रस्थान कर लेते है । 
वह करुणामय दृश्य का मंचन नाटिका के माध्यम से किया गया इसी के साथ प्रभु श्री नेमीनाथ भगवान का दीक्षा कल्याणक महोत्सव मनाया गया। दीक्षा कल्याणक के साथ ही आचार्यदेवेश श्रीमद्विजय ऋषभचन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. के मुखारविंद से मंगलाचरण पश्चात् प्रभु की दीक्षा विधि का कार्यक्रम सम्पन्न हुआ और इस दृश्य को देखकर श्रावक- श्राविकाओं ने वर्षभर में 100-100 सामायिक करने का संकल्प भी लिया। कार्यक्रम में प्रभु के इन्द्र-इन्द्राणी बनने का लाभ शालिनकुमारजी अभयकुमारजी बापुलालजी, श्रीमती विधि, श्रीमती लता धारीवाल परिवार ने लिया था । विधिकारक मुकेश जैन द्वारा विधि करवायी गयी ।
 वर्षावास में 45 दिवसीय सिद्धितप तपाराधना में 70 से अधिक आराधक आराधना में लीन है । इसका लाभ मनोकामना कटारिया परिवार द्वारा लिया गया है । चातुर्मास में धर्मबिंदु ग्रंथ एवं नल दमयंती कथानक के चरित्र पर भी प्रवचन माला चल रही है । आज शनिवार को प्रातः 9 बजे से प्रभु श्री नेमीनाथ भगवान का जन्मोत्सव मनाया जावेगा । आज रविवार से झाबुआ शहर में नवदिवसीय श्री नमस्कार महामंत्र आराधना प्रारम्भ हो रही है । नवकार महामंत्र की धारणा का आयोजन श्री विपीनकुमार सत्यनारायणजी जानकीलालजी अरोड़ परिवार द्वारा लिया गया।
रविवार को झाबुआ नगर में बस स्टेण्ड के पीछे स्थित शहनाई गार्डन में दादा गुरुदेव श्रीमद्विजय राजेन्द्रसूरीश्वर जी म.सा. की पाट परम्परा के अष्ठम पटधर वर्तमान गच्छाधिपति आचार्यदेवेश श्रीमद्विजय ऋषभचन्द्रसूरीश्वरजी म.सा. के मुखारविंद से चातुर्मास आराधना की तृतीय महामांगलिक का भव्य आयोजन 11 बजे चातुर्मास समिति द्वारा किया गया है । इसका लाभ श्री अभयकुमारजी बापुलालजी, शालिनकुमारजी अभयकुमारजी धारीवाल परिवार राजेन्द्र आईसकेन्डी झाबुआ द्वारा लिया गया। इसका सीधा प्रसारण सुबह 11 बजे से 2 बजे तक पारस टीवी चैनल पर भी किया जावेगा।

Post a Comment

 
Top