भोपाल। कांग्रेस के ज्यादातर विधायकों ने अजय सिंह (राहुल भैया) को विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष बनाने के निर्णय को सही ठहराया है। विधायकों का कहना है कि अब कांग्रेस नई ऊर्जा और शक्ति के साथ सरकार का मुकाबला करेगी।
वहीं स्कूल शिक्षा मंत्री विजय शाह ने बाला बच्चन को हटाने के निर्णय को आदिवासियों का अपमान बताया है। उन्होंने कहा कि बच्चन अच्छे से जिम्मेदारी निभा रहे थे। ज्ञात हो कि विधानसभा सत्र के दौरान ही कांग्रेस नेताओं को पता चला कि पार्टी ने अजय सिंह को नेता प्रतिपक्ष बना दिया है।
किसने क्या कहा ...
- राघौगढ़ से कांग्रेस विधायक जयवर्द्धन सिंह कहते हैं कि हाईकमान का फैसला हो चुका है। हम सब विधायक भी अजय सिंह के साथ हैं। अब उनके नेतृत्व में सरकार की कमियां जनता तक लेकर जाएंगे।
- लहार से कांग्रेस विधायक डॉ. गोविंद सिंह ने कहा कि अब लावा फूटेगा। अजय सिंह अनुभवी नेता हैं। उन्हें सभी विधायकों का समर्थन है। उनके नेतृत्व से पार्टी के परफॉर्मेंस में अंतर आएगा। उन्होंने पहले भी भाजपा और राज्य सरकार को कई बार कठघरे में खड़ा किया है।
- सांसद कांतिलाल भूरिया ने कहा कि अजय सिंह को पार्टी के अंदर से कोई चुनौती नहीं है। वे 2018 मिशन लेकर पूरी ताकत से लड़ेंगे। दो दिन पहले राजधानी में सफल प्रदर्शन किया है, जो चुनाव तक जारी रहेंगे। अब हम संभाग, जिला और ब्लॉक तक ऐसे प्रदर्शन करेंगे।
- कार्यकारी नेता प्रतिपक्ष बाला बच्चन ने हाईकमान के निर्णय का स्वागत किया है। वे कहते हैं कि कटारे जी के स्वर्गवास के बाद से मैं प्रभारी के तौर पर काम संभाल रहा हूं। अब राहुल भैया के साथ मिलकर काम करेंगे। कोई भी निर्णय लेते समय कई पहलू देखे जाते हैं। पार्टी ने आमागी रणनीति के तहत ये कदम उठाया है। मेरे लिए मौके और भी आएंगे। वे मंत्री विजय शाह की बात पर बोले कि ये शाह की अपनी सोच हो सकती है।
- खनिज मंत्री राजेंद्र शुक्ल कहते हैं कि नेता प्रतिपक्ष बदलने से कोई असर नहीं पड़ेगा। कांग्रेस के पास मुद्दे नहीं हैं। वह तो सिर्फ शोर करना जानती है।
-सामान्य प्रशासन राज्यमंत्री लाल सिंह आर्य ने कहा कि प्रभारी नेता प्रतिपक्ष के रूप में अनुसूचित जनजाति के व्यक्ति बहुत प्रभावी ढंग से अपनी भूमिका निभा रहे थे। इस कदम से कांग्रेस का अनुसूचित जनजाति विरोधी चेहरा उजागर हुआ है।

Post a Comment

 
Top